सौन्दर्य (blog related)

मेरी सहेलियाँ सजती-सँवरती और मुझे भी नए-नए फैशन समझातीं। मुझे सजने- सँवरने का बिलकुल मन नहीं करता था। मेरी सहेलियाँ मेरी समस्या समझती ही नहीं थीं। उनके चिकने, साफ- सुथरे चेहरे दमकते रहते थे। मेरा चेहरा मुंहासों से भरा था। मुझे इन मुंहासों की वजह से बड़ी शर्मिंदगी होती थी। उन्हें छुपाते-छुपाते मैं थक गई थी। मेरा आत्मविश्वास भी कम हो गया था। मुझे कुछ भी अच्छा नहीं लगता था। मैं रोज़ एक ही जींस और टॉप में कालेज़ पहुँच जाती। मैं ना किसी से ज्यादा बातें करतीं ना किसी लडके से मेरी दोस्ती थी।

मुझे राधिका के साथ अपना प्रोजेक्ट का काम करना था। बालों को आगे कर अपने गाल पर मैंने फैला लिया, जिससे मेरे गाल छुप जाये।फिर अपनी सहेली राधिका के घर पहुँची। राधिका ने नाराजगी से पूछा- “कमल ने मुझे तुम्हें कैंटीन में भेजने कहा था। पर तुमने फोन कर कमल को मना क्यों कर दिया? वह अच्छा लड़का है। तुमसे दोस्ती करना कहता है। तुम सबलोगों से इतनी कटी-कटी क्यों रहती हो?

मेरी बड़ी-बड़ी आँखों मेँ आँसू भर आए। मैंने अपने गालों पर से बाल हटा कर अपने मुँहासे राधिका को दिखाए। मेरे दोनों गाल लाल-गुलाबी मुहांसों से भरे थे। राधिका ने मुस्कुरा कर कहा-“ बस, यही तुम्हारी समस्या है? वह उठी और अपने अलमारी से कुछ निकाल कर मेरे हाथों में थमा दिया। मेरे हाथों में गार्नियर प्योर एक्टिव नीम फ़ेस वाश की सफ़ेद-हरे रंग की ट्यूब थी। मैंने कहा-“ इससे क्या होगा?” राधिका ने हँसते हुए कहा- “लगा कर तो देख।“

लगभग एक सप्ताह बाद मैं बहुत खुश थी। गार्नियर का जादू देख कर मैं हैरान थी। मेरा चेहरा मुंहासों से मुक्त दमक रहा था। हमेशा पहननेवाले जींस को हटा कर एक सुंदर से सलवार-कुर्ते में मैं तैयार हो गई। बालों को खूबसूरती से क्लिप से लगा कर बाँधा और कॉलेज कैंटीन में राधिका से मिलने पहुँची। मैं उसे धन्यवाद देना चाहती थी। कैंटीन मेँ हम दोनों सहेलियाँ बैठ कर गप्पें कर रहीं थीं। तभी कमल वहाँ आया और हमारे साथ बैठ गया। उसकी आँखों मेँ मेरे लिए प्रशंसा दिख रही थी। उसने मुझ से पूछा-“ तुम अर्चना की छोटी बहन हो क्या? तुम दोनों काफी मिलती-जुलती हो। इसलिए मैंने अनुमान लगा लिया। पर तुम उससे ज्यादा ग्लैमरस हो। मैं और राधिका खिलखिला कर हंस पड़े। सच्चाई जान कर कमल झेंप गया। आज मैं और कमल अच्छे दोस्त हैं। मैं और राधिका इसे गार्नियर-मैजिक कहतें है। अब मैं पहले जैसी सहमी-सिमटी नहीं बल्कि आत्मविश्वाश से भरी अर्चना हूँ। सभी कहते हैं मैं हर पार्टी की जान हूँ। हम सभी सहेलियों को त्वचा समस्या होने पर गार्नियर-लक विश करते हैं।

#written for indiblogger

http://bit.ly/GarnierPureActiveNeemWebsite

Advertisements

Leave a Reply

Please log in using one of these methods to post your comment:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

w

Connecting to %s