लिखना क्यों जरुरी है ?

 

अपने तनाव और परेशानीयों को कम करने के लिए लिखें- डॉ. जेम्स डब्लू पेननेबैकर, मनोविज्ञान विभाग, टेक्सास विश्वविद्यालय, ऑस्टिन ने अभिव्यक्त पुर्ण लेखन के स्वास्थ्य  पर अनेक शोध में अनेक फायदे देखें हैं ।

अभिव्यक्ति लेखन: मन की बातें   लिखना  अभिव्यक्त का  रचनात्माक माध्यम  हैं । मन की  बातों को लिख कर अचेतन में दबी बातों के नाकारात्मक असर को कम किया जा सकता है।

लेखन एक चिकित्सा –  लेखन मात्र मनोरंजन नहीं, बल्कि एक तरह का  चिकित्सा भी है ।

अपने विचारों और भावनाओं को लिखें – अच्छे शारीरिक  और भावनात्मक स्वास्थ के लिए लिखना फायदेमंद है।

लेखन  मस्तिष्क  का व्यायाम है – एक नए अध्ययन में पाया गया कि लिखना  अौर  पढ़ना जैसे शौक  दिमाग-के व्यायाम  की गतिविधियों है, जो  हर  उम्र में लाभदयक है। यह याददाश्त, फ़ोकस, मूड आदि  में सुधार करता है।

e1

 

 

images from internet.

8 thoughts on “लिखना क्यों जरुरी है ?

Leave a Reply

Please log in using one of these methods to post your comment:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s