Posted in Uncategorized

Swami Viveka nand 

सौजन्य इनशॉर्ट्स 

Advertisements
Posted in चंद पंक्तियाँ, hindi poem

ठोकर

जीवन में किसी ने जब कभी 

धोखा दिया,

 समझदार बना दिया,

धक्का  दिया ,

तैराक बना दिया।

समयजामाने की ठोकरे     

जीवन  तराश देती है 

 किसी मूर्तिकार की तरह ।