मुस्कान

लोग जल जाते हैं मेरी मुस्कान पर क्योंकि

मैंने कभी दर्द की नुमाइश नहीं की.

जिंदगी से जो मिला कबूल किया

किसी चीज की कभी फरमाइश नहीं की,

मुश्किल है समझ पाना मुझे क्योंकि

जीने के अलग हैं अंदाज मेरे,

जब जहां जो मिला अपना लिया ,

ना मिला उसकी कभी ख्वाहिश नहीं.

Unknown