दिलों दिमाग़ का बोझ

दिलों दिमाग़ का बोझ

जब तन तक उतर आए …..

जिस्म को उदास , मायूस बीमार बनाए .

तब ज़रूरी है इसे ऊतार फेंकना.

वरना तन और मन दोनो

व्यथा …दर्द में डूब जाएँगे .

जन्नत

Best I have ever read on Kashmir situation…

उम्र जन्नत में रह कर,

उसे उजाड़ने में गुज़ार दी,

और जिहाद बस इस बात का था,

की मरने के बाद जन्नत मिले…!!!