जीवन के रंग -74

रेशम के रेशमी शकुन अौ एहसास

में लिपटे रेशम कीट,

ककुन में अपने को

महफ़ूज़ मान

भूल जाते है

अपने क्षण भंगुर जीवन को .

वैसे हीं जैसे हम अपने

काली सफ़ेद ख़ंजन नयनों

में भरे रंगीन सपने में डूब

भूल जाते है

जीवन की नश्वरता को.

सिल्क धागा निकालने के लिए अंडाकार ककुन , जिसके अंदर जीवित सिल्क कीट होते है , उसे गर्म पानी में उबाला जाता है .

Cocoons are collected, which are single-shelled and oval in shape, and are then boiledto extract the silk yarn from it. The cocoons are boiled with the living larvae / silk worm still inside.

Leave a Reply

Please log in using one of these methods to post your comment:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s