ज़िंदगी के रंग -83

आने वाले कल का

इंतज़ार करते हुए ,

हम भूल जाते हैं

कि आज वही कल है

जिसका इंतज़ार बेसब्री

से हम कल कर रहे थे .