गाथायें – महाभारत रचना

वेदों का संकलन पूर्ण कर ,

वेद व्यास ने वैदिक भारत की

व्यवस्था पर एक महान रचना ,

एक विशद ज्ञान रचना चाहा.

निर्विधन , शुद्ध , सही ,

एक ईश्वरीय काव्य रचना के

लिए बुद्धि दाता गणेश को

अपना सहायक लेखक बनने का

अनुरोध किया और स्वयं बने वक़्ता .

ना जाने कितने समय तक बिना रुके

व्यास अपने ही परिवार –

कौरवों और पांडवों के

विरासत और सिंहासन

पारिवारिक कलह

की कथा कहते रहे .

जिसकी परिणती हुई

कुरुक्षेत्र युद्ध के रूप में.

इसे श्लोकों में रचकर व्यास

गणपति को सुनाते रहे और

गणेश अनवरत लिखते रहे .

असत्य पर सत्य के विजय की कथा ,

विश्व का महान काव्य बना

और यह कहलाया – महाभारत !!!

उठो द्रौपदी

उठो द्रौपदी वस्त्र संम्भालो

अब गोविन्द न आयेंगे।

कब तक आस लगाओगी तुम

बिके.. हुए अखबारों से।

कैसी रक्षा मांग रही हो

दु:शासन…. दरबारों से।

स्वंय… जो लज्जाहीन पड़े हैं

वे क्या लाज बचायेंगे।

उठो द्रौपदी वस्त्र संम्भालो

अब गोविन्द न आयेंगे।Il१॥

कल तक केवल अंधा राजा

अब गूंगा बहरा भी है।

होंठ सिल दिये हैं जनता के

कानों पर पहरा भी है।

तुम्ही कहो ये अश्रु तुम्हारे

किसको क्या समझायेंगे।

उठो द्रौपदी वस्त्र संम्भालो

अब गोविन्द न आयेंगे।ll२॥

छोड़ो मेंहदी भुजा संम्भालो

खुद ही अपना चीर बचा लो।

द्यूत बिछाये बैठे शकुनि

मस्तक सब बिक जायेंगे।

उठो द्रौपदी वस्त्र संम्भालो

अब गोविद न आयेंगे। Il३॥

अटलबिहारी वाजपेयी

Saint with a Stethoscope

Kerala’s noted oncologist (Specialist Doctor in cancer) and Dr. P.V. Gangadharan, who is fondly referred to as ‘Saint with a Stethoscope’ says:

(1) Avoid sugar – Cancer does not spread without sugar. Cancer will die on its own without sugar.

(2) Take a full lime and squeeze it into luke warm water. Take this for one to three months before breakfast. Maryland college of medicine says this is 1000 times more effective than chemotherapy.

(3) Take three spoons of organic or virgin coconut oil early morning and in the night to keep cancer at bay.

Make one of these choices, but be sure to avoid sugar.

I have been trying to spread this message for the last two years. Be sure to forward this important message. Avoid cancer.

Dr. P. V. Gangadharan

https://www.google.co.in/amp/s/www.deccanchronicle.com/amp/lifestyle/viral-and-trending/010717/a-road-less-travelled.html

Green Cross Society

Forwarded as received

ऐसा क्यों हैं- 4?

संवेग या इमोशन हम सभी में एक जैसे होतें है – लड़के हो या लड़कियाँ . ये एमोशन कभी हम सभी को कमज़ोर बनाते है और कभी कठिनाइयों का सामना करने की हिम्मत देते हैं. ये जीवन के महत्वपूर्ण व्यवहार हैं.

तब क्यों लड़को को अपना डर , आँसू , कमज़ोरी दिखाने से रोका जाता है ? क्यों वे अपनी स्वभाविक भावना छुपाते है और अगर नहीं छुपाते तब क्यों कहा जाता है – लड़की हो क्या?

एक कवि और महान नेता को श्रद्धा सुमन !!

छोटे मन से कोई

बड़ा नहीं होता,

टूटे मन से कोई

खड़ा नहीं होता .

युगपुरूष अटल बिहारी बाजपेयी