नन्हा दीप

उगते सूरज ने नम आँखों से देखा

एक नन्हा सा दीप

अपनी बंद होती

कमज़ोर आँखों से ,

आख़री लौ में जलता- बुझता

सूरज की कमी पूरी करने में

जी जान से लगा हैं.

सूरज ने अपनी पहली किरण से

उसे सहला कर अपने

आने की ख़बर दे दी .