ज़िंदगी के रंग -124

यादें वे सारी जीती जागती मंजर दिखाती हैं, कि

जिंदगी में कुछ तय नहीं,

पर इस दुनिया में आना और जाना तय है।