ज़िंदगी के रंग -130

रेशम के कीटों की तरह

हम सब भी एक ककून

या एक खोल बना लेते हैं .

आराम देह ज़िंदगी

जीने की ख़्वाहिश में.

रेशम बुन उसके नरम

तहों में क़ैद हो जाते हैं,

ज़िंदगी परिवर्तन का

दूसरा नाम है यह भूल कर .

यह भूल कर कि यह अनमोल रेशम हीं

कीट के मृत्यु का कारण बनता है .

अंधेरे को हीं उजाला मान

आराम को ज़िंदगी मान

जीना भी कोई जीना है क्या ?

Description of silk worm

The silkworm is the larva or caterpillar of the domestic silkmoth, Bombyx mori.

In the pupal phase of their lifecycle, they enclose themselves in a cocoon made up of raw silk produced by the salivary glands. The final molt from larva to pupa takes place within the cocoon, which provides a vital layer of protection during the vulnerable, almost motionless pupal state.

Then silkworm cocoons are boiled. The heat kills the silkworms and the water makes the cocoons easier to unravel. 

रेशम कीट कीट वर्ग का प्राणी है। बाम्बिक्स वंश के लारवा से रेशम या सिल्क प्राप्त होता है। अतः इन्हें रेशम कीट कहते हैं। ये कीट अपने लार सेकु के अंदर रेशम के पतले और ख़ूबसूरत धागा अपने चारों ओर लपेटते जाते है . तैयार कुनो को पानी में उबाल कर रेशम निकाला जाता है . जिससे कीट मारे जाते है.

Courtesy- Wikipedia