India Successfully Lifted 27.1 Crore People Out Of Poverty In 10 Years, Fastest Reduction Among Fellow Nations: UN

https://www.google.co.in/amp/s/swarajyamag.com/amp/story/insta%252Findia-successfully-lifted-271-crore-people-out-of-poverty-in-10-years-fastest-reduction-among-fellow-nations-un

ज़िंदगी के रंग- 173

अदबी महफ़िलें, रस्मों -ओ -रवायत

से निभाई जातीं हैं.

हँसी ….मुस्कान …अपनापन

सब कुछ नपा – तौला सा होता है.

जब हमें क़ुदरत ने नवाज़ा है आज़ाद तबियत से.

फिर मुस्कान पे राशन,

गुफ़्तगू में तकल्लुफ़ क्यों ?

बेज़ुबाँ बन, दिखावटी महफ़िलों से अच्छा है,

तन्हाइयों की अपनी महफ़ि

में समय गुज़ारे अपने साथ.

शब्दार्थ–

अदबी- शिष्टाचार .

महफ़िलें- पार्टी.

रस्मों -ओ -रवायत— दस्तूर.

गुफ़्तगू – बातचीत.

तकल्लुफ़ – बनावट, औपचारिकता.

बेज़ुबाँजिसमें बोलने की शक्ति हो.