Posted in news, Uncategorized

चेहरे पर स्टैम्प क्यों ?? Stamped faces

News

Bhopal – Faces of the children were reportedly stamped by the jail authorities in a bid to distinguish them from the children of the women inmates.

भोपाल सेंट्रल जेल में बंद अपने पिता से मुलाकात करने गए दो बच्चों के चेहरे पर मुहर लगाए  गये।

 

क्या हम मशीन बन गये है ?

और काग़ज़ समझ रखा है ,

इन मासूम नाजुक चेहरों को ?

जो हथेली पर लगने वाले स्टैम्प

 इनके गालों पर लगा दिया ?

त्योहार के दिन जेल में अपनों

से मिलने जाने की यह क्रूर सजा क्यों ?

शायद लोगों में मानवता …..बची ही नहीँ

 या यह शक्ति – ओहदे  का मद है ?

या मजाक करने का पीड़ादायक तरीका ??

क्या उनके बच्चों के साथ

 ऐसा किया जाना पसंद  आयेगा उन्हे ?

 

 

Advertisements
Posted in news, Uncategorized

कॉमगेट मारू ( सच्चाई पर आधारित मार्मिक कविता)

News 31.7.2017 –Daily News & Analysis Mint office begins sale of commemorative coins on Gandhi, 

Sale of commemorative coins on Gandhi, Komagata Maru incident begins

 

The Komagata Maru incident dates back to May 23, 1914 when the ship carrying 376 passengers, majority of whom were Sikhs, Muslims and Hindus  were denied entry into Canada after an immigration dispute. Some of the passengers were killed in protests on their return to India.

The Government Mint, Mumbai, has started sale of commemorative  coins of Mahatma Gandhi   and the Komagata Maru incident.

(यह भारतीयों की एक मार्मिक कहानी है। “कोमगाटा मारू” जापानी जहाज़ में 376 भारतीय यात्री सवार थे। यह जहाज़ 4 अप्रैल 1914 को निकला। ये भारतीय कनाडा सरकार की इजाज़त से वहाँ पहुंचे। पर उन्हे बैरंग लौटा दिया गया। जब यह वापस भारत पहुँचा तब यहाँ अँग्रजों ने गोलियोँ से उनका स्वागत किया।

सरकारी  टकसाल, मुंबई ने महात्मा गांधी की दक्षिण अफ्रीका और कॉमगेट मारू घटना के शताब्दी को याद करने के लिए स्मारक सिक्के की बिक्री शुरू कर दी है। )

 

सुदूर देशों में ज्ञान बाँटने और व्यवसाय करने,

हम जाते रहें है युगों से।

आज हम फिर, अच्छे जीवन की कामना, गुलामी और

संभावित विश्वयुद्ध के भय से भयभीत।

निकल पड़े अनंत- असीम सागर में,

कॉमगेट मारू जहाज़ पर सवार हो।

चालीस दिनों की कठिन यात्रा से थके हारे,

हम पहुँचे सागर पार अपने मित्र देश।

पर, पनाह नहीं मिला।

वापस लौट पड़े भारतभूमि,

पाँच महीने के आवागमन के बाद

कुछ मित्रो को बीमारी और अथक यात्रा में गवां।

टूटे दिल और कमजोर काया के साथ लौट,

जब सागर से दिखी अपनी मातृभूमि।

दिल में राहत और आँखों में आँसू भर आए।

अश्रु – धूमिल नेत्रों से निहारते रहे पास आती जन्मभूमि – मातृभूमि।

तभी ………………….

गोलियों से स्वागत हुआ हमारा। कुछ बचे कुछ मारे गए।

अंग्रेजों ने देशद्रोही और प्रवासी का ठप्पा लगा ,

अपने हीं देश आने पर, भेज दिया कारागार।

स्वदेश वापसी का यह इनाम क्यों?

 

Source: कोमगाटा मारू ( सच्चाई पर आधारित मार्मिक कविता)

Posted in हिन्दी कविता, news, Uncategorized, women conditin in society

जिंदगी के रंग 14 – कविता

NEWS- The Sunday Express, March 19, 2017

1.It was in March last year that her husband Shankar was hacked to death by goons hired by her parents, a caste killing caught on camera that has stopped the nation full a letter, Kaushalya is a new woman women- ‘Yes, I am alone .  but I will fight it out’

2. Lakshmi, daily  wager at the building site in East Delhi – ‘ At time we work in the morning and give birth in the evening’

3. 11 year old to become Britain’s youngest mother

नाम  कुछ भी हो, क्या उसे मदद चाहिए?

थोड़ी जिद्दी, थोङी हैरान-परेशान,

माया पंछी की तरह मायावी।

लड़ती झगड़ती दुनिया की अनुचित बातों से,

फिनिक्स

की तरह हर बार फिर से उठ जाती

पता नहीं कहां से वह शक्ति लाती

कितनी बार राख से पुनर्जन्म लेने की काबलियत है उसकी?

हर बार, हर बार………..पर कितनी बार……..?

कौन जाने कितनी बार??????????

अगर उसका साहस चुक  गया तब?

In Greek mythology, phoenix is a long-lived bird that is cyclically regenerated or reborn. Associated with the Sun, a phoenix obtains new life by arising from the ashes . may symbolize renewal

फ़ीनिक्स एक बेहद रंगीन पक्षी होता है । जिस की चर्चा प्राचीन मिथकों व दंतकथाओं में पाया जाता है। माना जाता है कि वह मर कर भी राख से पुनः जी उठता है।

Posted in alien, news, Uncategorized

Are we alone in the dark – or Aliens exist? (Latest Research )

7 Earth-Size Planets Orbit Dwarf Star, NASA and European Astronomers Say-  FEB. 22, 2017

Not just one, but seven Earth-size planets that could potentially harbor life have been identified orbiting a tiny star not too far away, offering the first realistic opportunity to search for signs of alien life outside the solar system.

Do aliens exist This is a controversial topic. Debate is going on. Mystery of existence of life on other planets is still matter of discussion and research.

Hindu cosmology -Hindu mythology and cosmology explains about trailokya or triple world. It believes the existence of three worlds – prithvi, akash and patal.

Stephen Hawking According to genius scientist Stephen Hawking “It’s time to commit to finding the answer to search for life beyond Earth,” “We are alive, we are intelligent, we must know”. “Mankind has a deep need to explore, to learn to know,” “We also happen to be sociable creatures. It is important to us to know if we are alone in the dark.”

 news Well known physicist, Stephen Hawking and Russian entrepreneur, Yuri Milner, announced the launch of $100 million project on – Breakthrough Initiative, a new project to attempt to detect life in the Cosmos on July 20, 2015, in London.

Source: Are we alone in the dark – or Aliens exist? (Latest Research )

Posted in news, Uncategorized

विज्ञान की नई खोज- किमेरा भ्रूण(chimera embryos -growing spare human organs in other animals)

Scientists Create First Human-Pig Chimeric Embryos  – Researchers may one day overcome the problem of organ shortages for transplantation by growing spare human organs in other animals. A group led by scientists at the Salk Institute for Biological Studies has taken the first big step toward making this a reality  (on January 26 , 2017 ) in Cell, they report having grown the first human-pig chimeric embryos.

हर साल दुनिया में हजारों लोगों की मृत्यु मानव अंगों की कमी की वजह से होती हैं। लगभग हर दस मिनट में  एक न एक व्यक्ति  अंग प्रत्यारोपण के लिए  प्रतीक्षा सूची में जोड़ा जाता है और हर दिन, उस सूची में 22 लोगों को अंग की जरूरत पूरी नहीं होने से  मर जाते हैं।

कैलिफोर्निया में सॉल्‍क इंस्‍टीट्यूट फोर बायलॉजिकल स्‍टडीज, अमेरिका के वैज्ञानिकों ने  सुअरों के अंदर इंसानी अंग उगाने के प्रयोग कि‍या हैं । 26 जनवरी, २०१७ को   वैज्ञानिकों ने एक उल्लेखनीय घोषणा की ।  वे पहली बार सफल मानव पशु संकर बनाने में सफल हुए हैं। पहला मानव-सुअर संकर भ्रूण प्रयोगशाला में बनाया गया है।  अभी प्रयोग शुरुआती दौर में है। पर वैज्ञानिकों  विश्वास है कि एक दिन प्रयोगशाला में मानव अंग  विकसित  अौर प्रत्यारोपित किये जा सकगें।

इस प्रक्रिया के तहत मरीज के ही शरीर की मूल कोशिकाओं को सूअर  के शरीर में विकसित किया जा सकेगा। एक बार अंगों के विकसित हो जाने पर उसे मरीज के शरीर में ट्रांसप्लांट  किया जा सकता है। ये अंग मरीज की अपनी कोशिकाओं से विकसित होने केी वजह से शरीर द्वारा स्वीकार किए जाने की ज्यादा संभावना रहेगी ।

 

 

 

 

 

Image from internet.

 

 

Posted in hindi blog, hindi post based on new, news, social system for girls, Uncategorized

अनुत्तरित प्रश्न …(ये है जिन्दगी ?)

q

वियतनामी महिला ने १ करोङ ५७ हजार रुपये की बीमा के लिये हाथ-पैर कटवाए (समाचार 26 Aug 2016)

वियतनामी महिला ने १ करोङ ५७ हजार रुपये की बीमा के लिये हाथ-पैर कटवाए। आज के इस समाचार ने दिल दहला दिया। मन में हलचल पैदा हो गई। उसकी ऐसी क्या मजबूरी रही होगी? सिर्फ पैसों के लालच में ऐसा किया या कुछ अौर परेशानी थी ? ये है जिन्दगी ?

हजारों अनुत्तरित प्रश्न ………….