Posted in Uncategorized

गुज़र जाने दो !

वक़्त बहुत कुछ दिखलाता है .

कभी ख़ुशियों की बरसात ,

कभी ग़मों की धूल भरी आँधी .

ख़ूबी तो तब है , जब

अपने ऊपर से …….

हर आँधी को बस गुज़र जाने दें

घास की तरह .

वृक्ष की तरह तने रहे तो

टूट भी सकते है .

Advertisements