ख़्वाब

Birth is scented with death. ~~Bhartrihari

Rate this:

ख़्वाहिशों से बुने थे कुछ ख़्वाब

एक झटके में सारे ताने बाने बिखर गए.

हम समेटने में लगे हैं …….

यह जानते हुए कि जाना है एक दिन सबको .

(Bhartṛhari was a great Sanskrit poet, writer and a king who renounced the world. भार्तृहरि एक महान राजा व संस्कृत कवि थे, जिन्हों ने अपनी  पत्नी के धोखे से आहत हो कर सन्यास ले लिया था।)