जिंदगी के रंग – 29

प्रश्न करते -करते जिंदगी से,

थक कर जब उत्तर की आस छोङ दी…..

तब  वह जवाब अपने आप देने लगी।

दूसरों को देखना छोङ, खुद को देखो…..

मुक्त कर दो अपने आप को –

गलती, प्यार, गुस्सा विश्वासघात, हार-जीत से………….

Your love….

Charge me
with your glance..!!
So my eyes can shine
With your love…..

❤ Rumi

अपनी नजरों से मुझ में उर्जा भर दो…!!

ताकि मेरी आँखों में

तुम्हारे प्यार की चमक आ जाये…

❤ रुमी

रिश्तों में गहराई

इन रिश्तों का क्या करें , जिस में गहराई पता हीं ना चले  ?

यह  पता ही ना चले – यह प्यार है या जरुरत…

????