हाईकु

पत्थर पर गिरती वर्षा की

सूखे पत्तों की सरसराहट

बूँदो का संगीत

Advertisements

Too Much Sitting May Shrink the Part of Your Brain Tied to Memory

Researchers from the University of California, Los Angeles (UCLA) found that long stretches of sedentary behavior — like spending all day in your desk chair — were linked to changes in a part of the adult brain that’s critical for memory.

Earlier research has linked sedentary behavior to an increased risk of heart disease, diabetes and premature death in middle-age and older adults. The new study, published yesterday (April 12) in the journal PLOS One, builds on this, focusing on inactivity’s impacts on the brain, according to a statement from the researchers.

behavior to thinning of the medial temporal lobe, a brain region involved in the formation of new memories, the researchers said in the statement. Brain thinning can be a precursor to cognitive decline and dementia in middle-age and older adults, the researchers added. [Don’t Sit Tight: 6 Ways to Make a Deadly Activity Healthier]

Courtesy:

https://www.google.co.in/amp/s/amp.livescience.com/62299-sitting-sedentary-shrinks-brain-memory.html

ऐसा क्यों हैं- 4?

संवेग या इमोशन हम सभी में एक जैसे होतें है – लड़के हो या लड़कियाँ . ये एमोशन कभी हम सभी को कमज़ोर बनाते है और कभी कठिनाइयों का सामना करने की हिम्मत देते हैं. ये जीवन के महत्वपूर्ण व्यवहार हैं.

तब क्यों लड़को को अपना डर , आँसू , कमज़ोरी दिखाने से रोका जाता है ? क्यों वे अपनी स्वभाविक भावना छुपाते है और अगर नहीं छुपाते तब क्यों कहा जाता है – लड़की हो क्या?

ऐसा क्यों हैं- 3 ? ईगो

लड़कियों ने किसी लड़के के इनकार करने पर उस पर तेज़ाब फेंक दिया हो ,अपहरण कर लिया हो ,उसके ना को सुन कर छेड़ना या धमकियाँ देना शुरू कर दिया हो , धमकियों भरा पत्र या काल करना शुरू कर दिया हो . वे उनके कपड़े नहीं खिंचती , भीड़ में उनके नाज़ुक जगहों पर चोट नहीं करतीं.

ऐसा क्यों ??? ऐसा क्यों नहीं करतीं लड़कियाँ ?क्या वे बहकना नहीं जानती या उनमें ईगो नहीं होता ?