मक्के की रोटी और सरसों का साग

मक्के की रोटी 
250 ग्राम मक्के का आट्टा
4 चम्मच सरसों तेल
नमक
मुली,  गाजर, अौर 1 टुकड़ा अदरक, कद्दूकस किया हुआ।
धनिया पत्ता, हरी मिर्च, मेथी/ मुली साग कतरी हुई।
आटे में सभी सामाग्री मिला लें। जब रोटी बनानी हो तब एक-एक लोईया सान कर प्लास्टिक पेपर के बीच रख कर पतला बेले। तवा पर देर तक ( अच्छे से पकने तक, क्योकि यह पकने मे समय लेता है) करारा सेंके। चाहे तो रिफाइंड ड़ाल कर भी तवा पर सेक सकते है। चटनी, दही, आचार सॉस या साग के साथ सर्व करे।

 सरसों का साग 
सरसों के साग  में   थोङा मुली पत्ता, पालक, बथुआ साग और गोभी के मुलायम पत्ते  साफ कर काट ले। अदरक, हरी मिर्च थोड़ा हरा गोटा मूंग ( चाहे तो 2-3 घंटे फुला ले) ड़ाल कर प्रेशर कुकर मे अच्छे से गला ले। मिक्सी मे पीस ले।
3-4 प्याज़, 1 लहसुन, 2-3 टमाटर, 4-5 हरी मिर्च बारीक काटे थोड़ा अदरक कद्दूकस करे। तेल/ रिफाइंड मे मिर्च , अदरक ड़ाल कर 1-2 मिनट चलाये।फिर बाकी सभी सामग्री डाल कर गुलाबी भुने। पिसा साग और 2-3 चम्मच सत्तू ड़ाल कर चलाते रहे। नमक डाले। नमक अंत मे डालने से साग का हरा रंग बरकरार रहेगा। गाढ़ा होने पर उतार ले।

image from internet

Advertisements

कीमा – पत्ता गोभी रोल Keema-Cabbage rolls

 

Healthy, tasty and easy  Recipe

सामान-

कीमा- १०० ग्राम

पिसा लहसुन अौर अदरक – १ चम्मच

चाट मसाला – 1 चम्मच

पत्ता गोभी –  आधा

सॅास – ४ चम्मच

अोलिव आॅयल – २ चम्मच

नमक –

हरी मिर्च- २

बनाने का तरीका-

कीमा, पिसा लहसुन – अदरक,   चाट मसाला अौर नमक अच्छी तरह  मिलाए । आधा कटे  पत्त्ता गोभी  के  ऊपर के कुछ पत्ते  हटायें। अब सावधानी से मुलायम पत्त्ते निकालें ताकि वे टूटें नहीं। चार पत्त्ते लें। प्रत्येक पत्ते के एक तरफ  १-१ चम्मच सॅास, चाट मसाला अौर नमक लगायें। अब  पत्ते के बीच एक लाईन में कीमा रखें, पत्ते को मोङे अौर सावधानी से रोल करें। चारो रोल प्लेट में  इस तरह रखें जिस से वह खुलने नहीं पाये। हरी मिर्च में चीरा लगा कर  नमक ङालें । रोल अौर हरी मिर्च  माइक्रोवेव में ४-५ मिनट पकायें। रोल पर थोङा अोलिव आॅयल ङालें। साॅस ङाल कर गर्म सर्व करें।

 

 Ingredients  –

Keema- 100g

garlic- ginger paste – 1 tablespoons

chat mashala – 1 tablespoons

Cabbage – half

tomato Sauce – 4 tablespoons

olive Oil – 2 tsp

Salt –

Green chille – 2

Method

Mix   Keema, garlic- ginger paste, chat masala and salt.

Take 4 soft leaves of Cabbage. brush tomato Sauce,chat mashala and Salt on it.

Put keema mix  on cabbage leaves and roll carefully. Prepare all four rolls. Slit green chillies and sprinkle some salt.

Cook rolls and chilli for 4-5 minutes in microwave. Brush olive Oil. Serve hot with tomato sauce.

अखरोट मखाना गुङ के स्वास्थवर्धक लङ्ङू – दिवाली के अवसर पर Healthy Walnut and Fox Nut laddoo


Indian Bloggers

त्योहारों में अक्सर गरिष्ठ मिठाइयोँ का प्रचलन है। इस दिवाली पर स्वादिष्ट, स्वस्थवर्धक लङ्ङूअों का मजा लिजीए। इसमे चीनी या घी बिलकुल नहीं है। इसे बनाना भी सरल है।
लङ्ङू
अखरोट- २०० ग्राम
मखाना – १०० ग्राम
मगज – १०० ग्राम ( अगर चाहें)
गुङ – २०० ग्राम
चाँदी का वर्क – ( अगर चाहें)

अखरोट , मखाना अौर मगज अलग-अलग भुनें। सूखा हीं मिक्सी में दरदरा पीस लें।
गुङ को कद्दुकस करें।
गुङ ,अखरोट, मखाना अौर मगज अच्छे से मिला कर थोङा मसलें। फिर इसे लङ्ङू बनाएँ।
वर्क लगायें। स्वादिष्ट, स्वस्थवर्धक लङ्ङू तैयार हैं।
अखरोट के फायदे – यह मस्तिष्क, नर्वस सिस्टम व दिमाग को तरावट देता है। इससे
तनाव का स्‍तर घटता है। इसके सेवन से ब्‍लड़ प्रेशर नियंत्रित होता है अौर
अच्‍छी नींद आती है। इसे बुद्धिवर्धक, लम्‍बे जीवन देने वाला अौर वजन घटाने वाला माना गया है।
मधुमेह से ग्रसित लगों के लिये अखरोट का सेवन लाभकारी होता है।
गर्भवती महिलाओं के शरीर के लिए भी अखरोट लाभप्रद है।यह बुरे कोलेस्ट्रोल को कम कर अच्छे कोलेस्ट्रोल को बढ़ाता है।
मखाना के फायदे – इसमें एटीं – आॉक्सीङेंट व एटीं – एजिंग गुण होते हैं।घुटनों और कमर दर्द , मधुमेह के लिये लाधदायक, किङनी तथा दिल को सेहतमंद बनाता है।
यह गर्भवती महिलाओं के लिए भी अखरोट लाभप्रद है।
नोट-

१ यह लङ्ङू मखाना के बिना सिर्फ अखरोट से भी बना सकतें है।
२ गुङ की मात्रा जरुरत अौर स्वाद के अनुसार ज्यादा भी ङाल सकतें हैं।
३ इस लङ्ङू का सेवन कम मात्रा में करें।
४ लङ्ङू की सामग्री को बारीक भी पीस सकतें हैं।

शुभ दिवाली!!!!

Happy diwali!!!!

स्ट्रॉबेरी केक (strawberry cake with rose icing recipe)

 

DSC_0255
केक

सामान-
मैदा – २ कप
चीनी – १ कप
अंङा – ४
मक्खन – ½ कप
वेनिला एसेंस – ४-५ बुंद
बेकिंग पाउङर- १/२ चम्मच

बनाने का तरीका-

१. मैदा अौर बेकिंग पाउङर २-३ बार चलनी से चालें। 

२. अंङे की सफेदी अौर जर्दी अलग-अलग करें। सफेदी कङा झाग होने तक फेटें।
३. जर्दी को अलग से इतना फेटें । जिससे वह क्रिमी अौर हलका हो जाये। इसमें थोङा-थोङा कर चीनी ङालें अौर फेंटते जायें।
४. अब इसमें एक बार थोङा मैदा ङालें अौर फेटें फिर थोङा अंङे की सफेदी ङालें फेटें। यह क्रम मैदा अौर अंङे की सफेदी खत्म होने दोहराते जायें।
५. ४-५ बुंद वेनिला एसेंस ङाल कार फेटें।
६. केक टिन में मक्खन लगा कर आधा केक घोल ङालें। १८०/180 ङिग्री पर १०-१२ मि बेक करें। इसी तरह एक केक अौर बना लें। केक को ठंडा होने दें।

बीच का फिलिंग

सामान-
ताजी स्ट्रॉबेरी / ताजे फल – ५-१० पतला-पतला कटा
स्ट्रॉबेरी सिरप – ४-६ चम्मच
क्रीम – लगभग ½ कप
चीनी – २-४ चम्मच या स्वाद अनुसार
तरीका-

स्ट्रॉबेरी सिरप , चीनी अौर क्रीम मिलायें। दोनों केक पर आधा-आधा ङालें। एक केक के ऊपर कटी

ताजी स्ट्रॉबेरी / फल बिछायें। ऊपर दूसरा केक रखें।

आइसिंग-

सामान-

मक्खन सादा- १ कप ( बिना नमक का )
आइसिंग शुगर – २ कप
स्ट्रॉबेरी सिरप – ४ चम्मच
वेनिला एसेंस ४-५ बुंद
क्रीम – १ चम्मच या जरुरत के अनुसार। 

सजावट के लिये स्प्रिंकल्स्

तरीका-
मक्खन मुलायम होने पर थोङा फेटें। अब इसमें एक बार थोङा आइसिंग शुगर ङालें अौर फेटें फिर १ चम्मच
स्ट्रॉबेरी सिरप ङालें अौर फेटें। यह क्रम आइसिंग शुगर अौर स्ट्रॉबेरी सिरप खत्म होने दोहराते जायें।अंत में क्रीम व वेनिला एसेंस ङालें अौर फेटें ।
केक के चारो चाकू या चम्मच से आइसिंग करें अौर स्प्रिंकल्स् लगायें ।
आइसिंग सीरिंज में क्लोज स्टार नोजल लगा लें। आइसिंग को आइसिंग सीरिंज में भरें ।

केक के ऊपर गुलाब बनाने का तरीका-

अब केक के ऊपर किनारे से गुलाब बनाने की शुरुआत करें। फूल एक बिंदू से शुरू करें अौर बाहर की अौर गोल-गोल बनाते जायें। इस तरह किनारे-किनारे गुलाब बनाते जायें। फिर दूसरे लाइन के गुलाब बनायें। अंत में बीच में गुलाब बनायें।

 

टिप –
१ हैंङ मिक्सर इस्तेमाल करने से केक घोल अच्छा मिक्स होता है।
२ थोङा-थोङा करके ङालने से बीच में हवा रह जाता है। जिससे केक ज्यादा फुलता है।
३ आइसिंग में जरुरत के अनुसार क्रीम ङालें। जिससे गुलाब सही आकार में रह सके।

 

 

cake recipe and image courtesy – Chandni Sahay.

बेर का आंचर ( व्यंजन )

fresh-berries

एक  किलो बेर को धो कर सूखने दे। फिर उसमे अच्छे से नमक डाल कर मिलाये (शीशे के बर्तन मे)। रात भर रहने दे। यह पानी छोड़ देगा। अगले दिन बेर को पानी से  निकाल कर सुखाएँ। रात में फिर उसी नमक पानी में ड़ाल कर अगले दिन फिर सुखाएँ। जब तक पूरा नमक पानी सूख जाएँ (3-5दिन) तक यही प्रक्रिया अपनाए। अब 1किलो इमली पानी में फुलाएं। इसका गूद्दा अलग कर लें। इसमें आधा किलो गुड/ खजूर गुड और नमक मिलाये। इसे धूप में 1-2 दिन धूप में गाढ़ा होने दें। अब इसमे इसमें बेर डाले और 2-4 धूप लगाएँ। दोनों मिल कर गाढ़ा हो जाने तक धूप लगाएँ।
मशाला- सौफ 50ग्राम, जीरा 25 ग्राम, मेथी 10 ग्राम, धनिया 25 ग्राम, लाल मिर्च 25ग्राम, कलौंगी 10 ग्राम सब सूखा भून कर पाउडर करें। बेर में यह मशाला मिला कर शीशा के जार में रख दें।

 

image taken from internet.