India has so much talent… it’s important to have good funding for science and technology: Bernard Lucas Feringa

https://indianexpress.com/article/technology/science/india-has-so-much-talent-its-important-to-have-good-funding-for-science-and-technology-that-will-bring-india-forward-5631254/?utm_campaign=fullarticle&utm_medium=referral&utm_source=inshorts

SEVEN DEADLY SINS — Mahatma Gandhi

 

Wealth without work.

Pleasure without conscience.

Knowledge without character.

Commerce without morality.

Science without humanity.

Worship without sacrifice.

Politics without principle.

AI – Artificial Intelligence, आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस

Artificial Intelligence  is a way of making a computer, a computer-controlled robot, or a software think intelligently, in the similar manner the intelligent humans think.

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस क्या है ?  इस ब्रम्हांड में सबसे जटिल चीज है हमारा दिमाग।  क्योंकि  सबसे जटिल नेटवर्क या सबसे ताकतवर सिस्टम भी उस की बराबरी नहीं कर सकता। इसी की तरह, ऐसी हीं मशीन बनाने की कोशिश है आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का अंतिम लक्ष्य । दूसरी भाषा में कहें तो आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस, एक ऐसा कंप्यूटरकृत दिमाग बनाना है  जो किसी इंसान की तरह सोच सकता है । उसकी तरह नई बातें सीख सकता है। अगर ऐसा होता है तब यह दुनिया हमेशा के लिए बदल जाएगी।

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस से भय क्या है ? कुछ लोगों के अनुसार यह खतरा भी हो सकता है । क्योंकि एआई  में किसी भी इंसान की तुलना में अधिक बुद्धिमान बनने की क्षमता होगी,  मानव ने अभी तक  ऐसी कोई चीज नहीं बनाई है जिसकी  बौद्धिक क्षमता  मनुष्यों से ज्यादा हो अौर हमारे पास भविष्यवाणी करने का कोई निश्चित तरीका नहीं है कि यह कैसे व्यवहार करेगा।

कुछ लोगों का विचार है कि हम जैविक और कृत्रिम बुद्धि का विलय निकट भविष्य में देखेंगे।

Graphene-based sieve turns seawater into drinking water ग्राफीन छलनी समुद्री जल को पीने के पानी में बदल सकता है


BBC News

A UK-based team of researchers has created a graphene-based sieve capable of removing salt from seawater. The sought-after development could aid the millions of people without ready access to clean drinking water.

The promising graphene oxide sieve could be highly efficient at filtering salts, and will now be tested against existing desalination membranes.

Reporting their results in the journal Nature Nanotechnology, scientists from the University of Manchester, led by Dr Rahul Nair, show how they solved some of the challenges by using a chemical derivative called graphene oxide.

 

 

ब्रिटेन के शोधकर्ताओं  ने समुद्री जल से नमक को हटाने में सक्षम एक ग्राफीन की छलनी बनाई है। जिससे लाखों लोगों को पीने का पानी  मिलेगी की संभावना है।

डॉ. राहुल नायर के नेतृत्व में यूनिवर्सिटी ऑफ मैनचेस्टर के वैज्ञानिक नेचर नैनोटेक्नोलॉजी में अपने परिणामों की रिपोर्ट करते हुए दिखाया हैं कि कैसे उन्होंने ग्रेफेन ऑक्साइड  का उपयोग करके इन चुनौतियों का समाधान कर रहें हैं।

पालक पत्ता से धड़कता मानव हृदय ऊतक Spinach Leaf Transformed Into Beating Human Heart Tissue

leaf-2_zoomout_no-dye2.adapt.470.1leaf-2_zoomout_dye2.adapt.470.1

 

Left: A decellularized spinach leaf is pictured before dye is added to test its ability to filter blood through tissue.Right: Picture of a spinach leaf after it successfully demonstrated red dye could be pumped through its veins, simulating the blood, oxygen and nutrients human heart tissue needs to grow.

Using the plant like scaffolding, scientists built a mini version of a working heart, which may one day aid in tissue regeneration.

 

  वैज्ञानिकों ने पालक पत्ता से धड़कता मानव हृदय ऊतक बनाया । काम करते   दिल का एक मिनी संस्करण है, जो हो सकता है यह एक दिन  ऊतक पुनर्जनन बनाने में  सहायता हो ।

Images courtesy – PHOTOGRAPH COURTESY WORCESTER POLYTECHNIC INSTITUTE ,

and interne.

News -http://news.nationalgeographic.com/2017/03/human-heart-spinach-leaf-medicine-science/

मोबाईल फोन छुट्टी दिवस -व्यंग (Holiday for mobile phone -satire) #2

WHO and various institutions have found negative effect of excessive use of mobile on our health.

मोबाईल के छुट्टी माँगने के भयंकर सपने से जागते ही मैंने उसे अपने कलेजे से लगा लिया. अब वह हमेशा मेरे दिल के करीब रहता. शर्ट के ऊपर के पाकेट में उसका आशियाना बन गया.

इतने पर भी मेरे दिल को तसल्ली नहीँ हुई. मोबाईल के छुट्टी पर जाने की कल्पना से अक्सर दिल डर से धड़कने लगता. लोगों ने कहा धडकी की बीमारी हो गई हैं मुझे. बड़ा टोना टोटका चला. किसी ने हौलदिल पहनने कहा. मैं सीधे डॉक्टर के पास पहुँचा.

दिल का हाल अच्छा नहीँ था. मुझे सख्त आराम का निर्देश देते हुये मेरी दुनिया और मोबाईल से मुझे अलग कर, अस्पताल में भर्ती कर दिया गया.

वहाँ सचमुच मुझे बड़ी शान्ति और सुकून मिला. ना बार बार की घंटी की आवाज़ ना उसे चार्ज करने का तनाव.

घर वापस आ कर बार बार बजती मोबाईल मुझे बड़ी नागवार गुजरी. तभी मेरे मोबाईल ने बड़े व्यंग से पूछा – क्यों , अब समझ आया ? क्यों मैं छुट्टी माँग रहा था? या फिर से अस्पताल जाने और डाक्टर को पैसे देने की मर्जी हैं ?

(हौलदिल – संग यशब नाम के चौकौर पत्थर के टुकडे पर कुरान की एक विशेष आयत खुदी रहती हैं. इसे रोगोंबाधा दूर करने के लिये पहना जाता हैं.)

 

image from internet

 

Posted on July 13, 2016 •Edit \”मोबाईल फोन छुट्टी दिवस -व्यंग (Holiday for mobile phone -satire)

Source: मोबाईल फोन छुट्टी दिवस -व्यंग (Holiday for mobile phone  -satire) #2